खाँसी को ठीक करने के असरदार घरेलू नुस्खे- Cough Home Remedies In Hindi

Advertisement

Cough Home Remedies In Hindi- खाँसी सामान्यतः झुकाम और फ्लू के साइड इफ़ेक्ट से होती है। खाँसी एक एलर्जी है जो अस्थमा, एसिड रिफ्लक्स, शुष्क हवा और कुछ दवाओं के कारण भी हो सकती है। खाँसी से जितना जल्दी हो सके छुटकारा पा लेना चाहिये क्योंकि लम्बे समय से चली आ रही खाँसी बहुत खतरनाक साबित हो सकती है। खाँसी कई बार बहुत ही ज्यादा पीड़ा देती है।

हमने बहुत सारे ऐसे लोगों को भी देखा है जिन्होंने बहुत सारी अंग्रेजी दवा खालीं परंतु इसके बाद भी उन्हें खाँसी से आराम नहीं मिलता। आज हम आपको आयुर्वेद के बहुत ही सस्ते और असरदार नुस्खे बताएँगे जिनको करने से आपकी खाँसी छूमंतर हो जाएगी।

Cough Home Remedies In Hindi
Cough Home Remedies In Hindi

खाँसी के सामान्य लक्षण - Symptoms of Cough in Hindi

खाँसी के कुछ सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं:
  • सिर व छाती में भारीपन रहना। 
  • गला सूखना, गले में कांटे के चुभने जैसा दर्द होना। 
  • Cough के साथ खाँसी का बार-बार आना। 
जब आपको खाँसी की शिकायत हो तभी आप इस लेख में दीये हुए किसी भी उपाय को करके खाँसी को खत्म कर सकते हो। अगर खाँसी ज्यादा पुराणी हो जाये तो बहुत ही ज्यादा खतरनाक हो जाती है। इसलिए समय रहते ही उपचार कर लें।

खाँसी को ठीक करने की घरेलू चिकित्सा - Home Remedies for Cough in Hindi

मैंने बहुत सारे लोगों को देखा है जो बाजार में मिलने वाली Cough Syrups पी लेते हैं। परन्तु बहुत सारी Cough Syrups पीने उन्हें खाँसी में कोई आराम नहीं मिलता। हम आपको कुछ ऐसे आसान और असरदार घरेलू नुस्खे बताएंगे जो आपकी खाँसी को जड़ से खतम कर देंगे। तो आइये पढ़ते हैं यह लेख ( Khansi se chutkara pane ke ghrelu upay).

1. काली मिर्च

अगर आप चाहते हो खाँसी बहुत जल्दी ठीक हो जाये मिर्च इसका बहुत ही असरदार इलाज है। काली मिर्च खाँसी को दूर भगाने के साथ ही गले की खराश को भी दूर करती है।

इसके लिए आपको चाहिये
  1. काली मिर्च के दाने: 7-8
  2. दूध: 1 गिलास 
करने का तरीका
  • एक गिलास दूध को अच्छे से उबाल लें। सोने से पहले काली मिर्च के दानों को अच्छे से चबा लें और गरम दूध इसके साथ घूँट-घूँट करके पीयें। इसको लगातार 5-6 दिनों तक करें। ऐसा करने से आपको खाँसी से मिलेगा और आपका गला भी ठीक हो जाएगा। 

2. शहद

खाँसी को दबाने और गले की खराश को खतम करने के लिये शहद का उपयोग एक प्रभावशाली तरीका है | आयुर्वेद में उल्लेख किया गया है कि शहद न सिर्फ सामान्य तौर पर मिलने वाली खाँसी की दवाओं से भी ज्यादा प्रभावशाली होता है।

इसके लिए आपको चाहिये

  1. शहद
  2. दूध 
करने का तरीका
  • अत्यधिक खाँसी होने पर आप शहद की एक चम्मच एक-एक घंटे के अंतराल पर खायें। इसको खाने से आपको खाँसी से राहत मिलेगी। 
  • 1 चम्मच शहद को 1 गिलास गरम दूध के साथ से सोने से पहले सेवन करें। इसको नियमित रूप से करने से सूखी खाँसी खतम हो जाती है और गले में भी राहत मिलती है। 

3. मुलेठी - पुरानी खाँसी की अचूक दवा

मुलेठी आयुर्वेद में दवा के में प्राचीन समय से उपयोग में लाई जा रही है। यह उपाय पुरानी से पुरानी खाँस, गला बैठना और गले की खराश आदि में तत्काल लाभ प्रदान करेगी।

इसके लिए आपको चाहिये
  1. मुलेठी- एक छोटा टुकड़ा 
  2. काली मिर्च - 2 दाने 
  3. मिश्री - एक छोटा टुकड़ा 
करने का तरीका
  • इसके लिए आपको मुलेठी, काली मिर्च और मिश्री तीनों को अपने मुँह में रखकर दिन में 2-3 बार चूँसना है। इसको करने से आपकी खाँसी की समस्या जड़ से खतम हो जाएगी।

4. हल्दी

हल्दी हमारे देश में रसोई घर की मसलों की रानी मानी जाती है। यह ज्यादातर सभी सब्जियों में उपयोग की जाती है। आयुर्वेद के अनुसार हल्दी का सेवन करने से कैंसर जैसी बीमारी से भी बचा जा सकता है। आइये पढ़ते हैं हल्दी को उपयोग करके कैसे खाँसी से छुटकारा पाया जा सकता है।

इसके लिए आपको चाहिये
  • हल्दी - 1 चम्मच 
  • काली मिर्च पाउडर - आधा चम्मच 
  • पानी - आधा कप 

करने का तरीका
  • पानी को अच्छे से उबाल लें अब इसमें काली मिर्च, हल्दी और थोड़ी सी दालचीनी डाल कर 2 मिनट दुबारा उबालें। अब इसे छान लें और एक चम्मच शहद मिला कर गरम-गरम इसका सेवन करें। इसको लगातार करने से आपकी खाँसी ठीक हो जाएगी। 

5. नमक के पानी के गरारे

नमक के पानी का उपयोग गले की खराश और खाँसी में राहत पाने के लिए किया जाता है है | इसके लिये आपको 1 गिलास पानी को इतना गरम करना है कि उससे मुँह ना जले। इसमें आधा चम्मच नमक घोल कर मुँह में पानी भरे। अब 15 सेकंड तक गरारे करें | गरारे के पानी को थूंक दें और पूरा पानी खत्म होने तक इस प्रक्रिया को दोहराते रहे।

डॉक्टर के पास कब जायें

वैसे तो ऊपर लिखे हुए उपायों को करने से आपकी खाँसी की समस्या खतम हो जाएगी। परन्तु अगर आपके साथ कुछ ऐसा हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जायें:
  1. यदि सर्दी-खाँसी के साथ साँस की गति बहुत तेज हो जाती हो। 
  2. खाँसी से निकले बलगम में अगर खून आने लगे। 
  3. खाना-पीना एक दम बंद हो गया हो। 
  4. सर्दी-खाँसी के साथ पसली चलने लगें।
दोस्तों यह घरेलू नुस्खे बहुत ही ज्यादा असरदार हैं और सस्ते भी हैं। जैसा की आप जानते हैं आजकल डॉक्टर दवा देने के बहुत ज्यादा पैसे लेते हैं। कुछ गरीब लोग ऐसे होते हैं जो इस खर्चे को नहीं उठा सकते। आप इस जानकारी को अपने Facebook, WhatsApp, Instagram और Twitter पर ज्यादा से ज्यादा share करें ताकि यह जानकारी अधिक से अधिक लोगों तक पहुँच पाये।

No comments

Powered by Blogger.